Category Archives: Love shayari hindi

Jay Shree Mahakal shayari Status in hindi | महाकाल शायरी

जय श्री महाकाल



हम नही मांगते की महादेव जिंदगी सौ साल की हो
हम नही मांगते की महादेव जिंदगी सौ साल की हो
मुझे बस दो लम्हे देना और उस लम्हे में सिर्फ आप हो


मैं अगर फूल हूं तो तू पानी है
मैं अगर फूल हूं तो तू पानी है
भोले बाबा आप हो मेरी जिंदगी में
मेरी तब तक ही कहानी है


Jay Shree Mahakal Shayari Status in hindi


सुन मत डर मौत से जिसकी जितनी लिखी है उसी वक्त जान जाएगी
मृत्यु के बाद मौत तुम्हे महादेव से मिलवाएगी
जय श्री महाकाल


ओ जवानी जवानी क्या जिसमे भोले बाबा की नाम की दीवानगी ना हो
जय श्री महाकाल


इस दुनिया मे मैं सिर्फ दो ही लोंगो के प्यार करता हूं
पहला माँ और दूसरा महाकाल
Jay Shree MahaKal


मेरे महादेव कहतें है कि खुद खुसी ना करो
खुद की खुसी ढूढ़ने का प्रयास करो
बाकी सब भोले बाबा सम्भाल लेंगे
Jay Shree Mahakal


मिटाने से मिटते नही ये भाग्य की लेख है
कर्म अच्छे करता चल फिर मेरे महादेव की महिमा देख
जय श्री महाकाल


अब क्या मांगू मेरे महाकाल तुझसे
मेरी तो फरमाइश भी तू है और ख्वाहिश भी तू है
जय श्री महाकाल


खुसी तेरे हर काम से होती है
मेरी सुबह चाय से नही भोले नाथ के नाम से होती है


मैं और मेरे भोले नाथ दोनो ही बड़े भुलक्कड़ हैं
वो मेरी गलतियों को भूल जाते हैं और मैं उनकी मेहरबानियों को
जय श्री महाकाल


मैं और मेरे भोले नाथ दोनों बड़े भुलक्कड़ हैं
वो मेरी गलतियों को भूल जाते हैं
और मैं उनकी मेहरबानियों को



Mahakal Attitude Status

मेरी औकात से बाहर मुझे कुछ ना देना मेरे महादेव
क्योंकि जरूरत से ज्यादा रोशनी इंसान को अंधा बना देती है
Jay Shree MahaKal


अरे रख मेरे महादेव पर विश्वास
जो तूने सोचा ना होगा तो होगा तेरे पास
जय श्री महाकाल



जगत के सारे आभूषण हमें फिके लगते
जब हमारे गले मे रुद्राक्ष लगते हैं
जय श्री महाकाल


किस बात के लिए करू मैं मेरे महाकाल से गिला
जो मेरे नसीब में नही था वो भी मुझे मिला
जय श्री महाकाल


बिखर गई थी ये जिंदगी
तेरे बिन खो गयी थी मैं इस माया के जाल में
पर मीले हो महादेव जबसे आप मुझे
संवर गयी ये आपकी लाडली जय श्री महाकाल


अरे मेरे महादेव देख लेती हूं
तसवीर आपकी जब भी मैं परेशान होती हूं
मानो महज तस्बिर से ही आप मेरी आप मेरे दर्द खिंच लेते हो
जय श्री महाकाल


की एक नही सौ बार तेरा नाम जपती हूं
की एक नही सौ बार तेरा नाम जपती हूं
मैं एक ऐसी लड़की जो किसी और बल्कि महादेव सिर्फ आप पर मरती हूं
जय महादेव


आप मेरी रूह बन गए हो
आप मेरे दिल का सुकून बन गए हो
आप के शिवा कुछ नजर नही आता मेरे महादेव
क्योंकि आप मेरा जुनून बन गये हो


दुनिया पराई है इक तुहि अपना है
दुनिया पराई है इक तुहि अपना है
भोले तू है हकीकत बाकी सब सपना है


क्या फर्क पड़ता है किस किस के दिल मे हैं हम
 क्या फर्क पड़ता है किस किस के दिल मे हैं हम
हमारी तो तुम पर आकर तलाश ही खत्म हो गयी मेरे महादेव



माँ हो तो जिंदगी निखर जाती है
की माँ हो तो जिंदगी निखर जाती है
और महादेव हों तो जिंदगी सँवर जाती है
जय श्री महाकाल


हम रोज मन्दिर जाकर यही दरखास्त करते हैं
की हम रोज मन्दिर जाकर यही दरखास्त करते हैं
खुस रहें वो जो महादेव से प्यार करतें हैं


सुन बेटा अगर तेरी अकड़ खानदानी है अगर तेरी अकड़ खानदानी है
तो हमारा Atitude भी भोलेबाबा की मेहरबानी है
जय श्री महाकाल


संभल जाएगी ये तेरी जिंदगी महादेव से फरियाद तो कर
खुसी में ना सही गम में याद तो कर
जय श्री महाकाल


मेरे महाकाल तेरे मस्ती में झूमती रहूं
मेरे महाकाल तेरे मस्ती में झूमती रहूं
दिल करता है बस तेरी नगरी में घूमती रहूं
जय श्री महाकाल



चाहे मेरी जिंदगी में मुसीबते हजार हो
की चाहे मेरी जिंदगी में मुसीबते हजार हो
मेरा सर वहीं झुकी जहाँ महादेव आपका दरबार हो
हर हर महादेव


जिनको अपने वक्त पर गुमान है
की जिनको अपने वक्त पर गुमान है
महादेव चुटकियों में वक्त बदल सकतें हैं
जय श्री महाकाल


हमें कहाँ मालूम था इश्क़ होता क्या है
हमें कहां मालूम था कि इश्क होता क्या है
बस एक तुम मिल गए शिव और जिंदगी मोहब्बत बन गयी


Mahakal Shayari status in hindi 

मेरे महाकाल तेरी चाहत और मेरी मोहब्बत मे इतना ही फर्क है
मेरे कुछ हिस्से में हो तुम और मेरी रूह रूह में हो तुम


बेमिसाल इश्क कहो या मासूम पागलपन
बेमिसाल इश्क कहो या मासूम पागलपन
जो महादेव से है वो किसी और से नही
ओम नमः शिवाय


ना सुंदर होगा ना शयाना होगा
ना सुंदर होगा ना शयाना होगा
अपना वाला तो महाकाल का दीवाना होगा


कुछ लोग पूछतें हैं कौन सी दुनिया मे जीती हो
हमने भी कह दिया कि महाकाल की भक्ति में दुनिया ही कहाँ नजर आती है
जय श्री महाकाल


अच्छी कर्मो से बड़ी राहत क्या होगी
लेखि से बड़ी इबादत क्या होगी
जिस इंसान के सर पर साया हो महाकाल
की जिस इंसान के सर पर साया हो महाकाल उसे जिंदगी से शिकायत क्या होगी
जय श्री महाकाल


पाप करने से पहले एक बार जरूर सोच लेना
तुम्हारे हर कर्मो की नोटिफिकेशन मेरे महाकाल के पास जाती है 

Ansh pandit shayari | अंश पंडित शायरी हिंदी में | Latest shayari Ansh Pandit

Ansh pandit Shayari latest collection

मेरे बिना क्या अपनी जिंदगी गुजार लोगे तुम
मेरे बिना क्या अपनी जिंदगी गुजार लोगे तुम
अरे इश्क हु मैं इश्क
बुखार नही जो दवा से उतार लोगे तुम


रूठ लो जितना रूठना है Mai आखिरी सांस तक मनाऊंगा
की रूठ लो जितना रूठना है Mai आखिरी सांस तक मनाऊंगा
पर जिस दिन मैं रूठ गया वापस कभी लौटकर Naa आऊंगा


मुश्किलों में इनकार और खुशियों में Pyar करतें हैं
की मुश्किलों में इनकार और खुशियों में Pyar करतें हैं
जनाब अब तो Log रिश्तों में कारोबार करतें हैं


जरा सी बात पर दिल तोड़ देते हो
की जरा सी बात पर दिल तोड़ देते हो जब चाहा तब बात किया
जब चाहा तब छोड़ देते हो


ना मिले किसी का साथ To हमें याद करना
तन्हाई महसूस हो To हमें याद करना
खुशियां बॉटने के लिए Dost हजार रखना
जब गम बांटना हो तो हमें याद करना ।।


आंखों के पर्दे नम हो गए
बातों के सील सिले गम हो गए पता नही गलती किसकी है
की पता नही गलती किसकी है वक्त बुरा है या बुरे हम हो गए


रास्ते मे तन्हा छोड़ तो ना दोगे वादे कस्मे तोड़ तो ना दोगे
और डाल कर अपनी आदत मुझे
की डाल कर अपनी आदत मुझे हमसे मुँह मोड़ तो ना लोगे


कितने चेहरे हैं इस दुनिया मे मगर हमें एक ही चेहरा नजर आता है
दुनिया को हम क्या देखें
अरे दुनिया को हम क्या देखें उसकी यादों में सारा वक्त गुजर जाता है


रोज तेरा इंतजार होता Hai रोज ये दिल बेकरार होता है
कास तुम समझ पाते Ki
की कास तुम समझ पाते Ki चुप रहनें वालों को भी किसी से प्यार होता है


वादा करतें हैं कि दोस्ती निभाएंगे कोशिश यही रहेगी कि तुझे ना सतायेंगे
जरूरत पड़ी ना तो दिल से याद करना मेरे भाई
मर भी रहें होंगे ना तो मोहलत लेकर आएंगे

 


जिंदगी हमेशा कुछ नया दिखाएगी कभी हँसायेगी तो कभी रुलायेगी
इसपर भरोशा मत करना यारो
की इसपर भरोशा मत करना यारो
ये जिंदगी किसी मोड़ पर भी अकेला छोड़ जाएगी


लड़को के आँशु कभी झूठे नही होते

उन्हें भी प्यार की जरूरत होती है

हर लड़के जिस्म के भूखे नही


वफा का दरिया कभी रुकता नही है
इश्क में आशिक कभी झुकता नही है
खामोश हैं किसी के खुसी के लिए
वर्ना ये ना सोचो कि हमारा दिल दुखता नही है


तूने तो कह दिया उसे बेवफा और बाजारू
मगर उसे बेटी होने का फर्ज भी निभाना था
माना साथ चलने की कसम खायी थी उसने
मगर चलना तो माँ बाप ने सिखाया था


हमने भी किसी से प्यार किया था
हाथों में फूल लेकर हमने भी किसी का इंतजार किया था
भूल उनकी नही भूल तो हमारी है
अरे प्यार उन्होंन थोड़ी
प्यार तो हमने किया था


दूरिया तो बहोत पर इतना समझ लो कि पास रहकर भी कोई रिश्ता खास नही होता
तुम दिल के पास इतने हो ,,
तुम दिल के पास इतने हो
की दूरियों का एहसास नही होता


उसके चेहरे पर कुछ इसकदर नूर है कि उसकी यादों में रोना भी मंजूर है
यार बेवफा भी नही कह सकते उसको
क्योंकी प्यार तो हमने किया था
ओ बेचारी तो बेकसूर है


मेरे दिल का दर्द किसने देखा है
मुझे बस खुदा ने तड़पते देखा है
हम तन्हाई में बैठकर रोते हैं
लोंगो ने महफ़िलो मुझे हँसते हुए देखा है


तेरे नाम की पतंग हमने भी खूब उड़ाई है
अपने घर से लेकर तेरे छत तक पहोचाई है
हमे इश्क था तब बड़ा रंगीन दौर निकला
पतंग हमने उड़ाई सम्भालने वाला कोई और निकला


यकीन करो कि यकीन नहो होता
इश्क हुआ लेकिन इश्क पर तसलिल नही होता
एक नही कई शख्स बदलकर देख लिए
जो तुझसे हुआ तो किसी और से नही होता


प्यार तूने भी किया प्यार मैने भी किया …
प्यार तूने भी किया प्यार मैने भी किया
बस फर्क सिर्फ इतना था तेरे झूठ पर विश्वास था मुझे
और मेरे सच पर भी ऐतराज था तुझे


 

 

Ansh pandit shayari new shayari 

बिन देखे मैं तुझसे प्यार कर बैठा
बस यही एक गुनाह मैं एक बार कर बैठा
मिलना तो तुझसे मुक्कदर में मंजूर ना था
ये सब जानते हुए भी मैं मोहब्बत तुझसे बेसुमार कर बैठा


हर बार हम पर इल्जाम लगा देते हो मोहब्बत का
हर बार हम पर इल्जाम लगा देते हो मोहब्बत का कभी खुद से पूछा है इतनी खूबसूरत क्यो हो


देखकर हमको ओ सर झुकाते हैं
बुलाके महेफिल में नजरे चुराते हैं
नफरत है हमसे तो भी कोई बात नही
पर गैरो से मिलकर दिल क्यू जलाते हैं


की सताने की जरूरत क्या थी
अरे मुझे जलाने की जरूरत क्या थी
अरे इश्क मुझसे नही था तो कह दिया होता
अरे इश्क मुझसे नही था तो कह दिया होता इसे मजाक बनाने की जरूरत क्या थी


उदास हु तुझसे पर नाराज नही
दिल में हूँ तेरे पर तेरे पास नही
झूठ कहूँ तो सबकुछ है मेरे पास सच कहूं तो तेरे सिवा कोई खास नही


जानकर ओ मुझे कभी जान ना पाए
आजतक ओ मुझे पहेचान नही पाएं
इसलियें खुद ही कर ली बेवफाई मैने
ताकि उनपर कोई इल्जाम ना आये


तुम्हारा अचानक से फोन रख देना मुझे तकलीफ देता है …
तुम्हारा अचानक से फोन रख देना मुझे तकलीफ देता है अच्छ सच बताना क्या दिल मे कोई और रहता है


जिसमे तू नही ओ तमन्ना मेरी अधूरी है
और जिसमे तू मिल जाये जिंदगी मेरी पूरी है तेरे साथ जुड़ी हैं सारी खुशियाँ
बाकी हँसना सबके साथ तो मेरी मजबूरी है


कौन कहता है मोहब्बत बर्बाद करती है
अरे निभाने वाला मिल जाये तो दुनिया याद करती है


हाँ ये सच है कि मैं तुमपे सक करता हूं
क्युकी मैं तुम्हे खोने से डरता हूँ
कास समझ पाता तू मेरे दिल के जजबातो को
की मैं तुमसे कितना प्यार करता हूं


सोचा था इसकदर उनको भूल जाएंगे
देखकर भी अनदेखा कर जाएंगे
मगर जब सामने आया उनका चेहरा
सोचा इस बार देखले  अगली बार से भूल जाएंगे


ना मिले किसी का साथ तो हमें करना
तन्हाई महसूस हो तो हमे याद करना
खुशियां बॉटने के लिए दोस्त हजार रखना
जब गम बाटना हो तो हमें याद करना


फना करदो अपनी सारी जिंदगी अपने माँ के कदमो में दोस्तों
क्योंकि ये ओ मोहब्बत है जहाँ बेवफाई नही मिलती

Ansh pandit shayari 

mother shayari hindi_माँ के लिए शायरी हिंदी में|shayari sms

माँ के लिए शायरी हिंदी में

mother shayari hindi,maa shayari,maa ki shayari with image,shayari on mother,maa ki mamta shayari, mother and father shayari hindi ,best Mother Shayari ,mother Shayari hindi New

लिख के गजल तेरे मेरे किस्से पे…

लिख के गजल तेरे मेरे किस्से पे मैं तेरे यहसास की मदहोसी में  झूम लूंगा और तेरा कर्ज मैं मर कर न उतार पाऊं बस जहाँ पड़े होंगे कदम माँ
मैं वो जमीन चुम लूंगा

लोग तोड़ जाते है दिल एक बहाने में
जिसे एक माँ को नौ महीने लगे थे बनाने में ।

इस खाने में वो स्वाद नही जो मेरी मां बनाती है
और आंधी तूफान बहोत आये मुझे डराने के लिए
पर उस आँचल को छू नही पाए जिसमे मेरी मां सुलाती है ।।

इधर मेरी खुशियां मुझसे दूर जा रही है
उधर मौत मुझे गले लगा रही है ।।
और एक आखिरी सांस बचाकर रखी है हमने
मेरी माँ मुझसे मिलने गांव से आ रही है

Mother shayari hindi me

की तबाहि है तो तबाही ही रहने दे
ताबहि है तो तबाही  ही रहने दें तू सब कुछ छीन ले मुझसे फिर भी तेरी औकात बता दूंगा
बस मेरी कलम में स्याही रहने दे
किसी ने राम लिखा तो किसी ने रहमान लिखा ।।
सब कोई अपने मन का ज्ञान लिखा
मैं सोच में पड़ गया यारो की मैं क्या लिखूं
आंख बंद करके कागज पर कलम घुमाया ।।
तो मेरी कलम ने मेरी माँ का नाम लिखा

ना पूजा करता हूं ना नमाज पड़ता हूं ।।
ना पूजा करता हूं ना नमाज पढ़ता हूं ना किसी सजदे में सर को झुकाया है
और ना ज्ञान है मुझे कुरान का , ना गीता को माथे से लगाया है
बस पूजता हूं उस देवी को जिसने जिसने मुझे धरती पर लाया है

झुरिया और बर्फीली बाल यार कहीँ देरी ना हो जाये
की झुरिया और बर्फीली बाल यार कही देरी ना हो जाये जिसने चलना सिखाया था उसकी लाठी बनने में यार कहीं देरी ना हो जाये
आंखे धुंधली देखती है उसकी जिसने दुनिया दिखाई थी
चश्मा बनवा लाता हूं ना ।।
यार कहीं देरी ना हो जाये
रख लेता हूँ ध्यान माँ बाप का हारी बीमारी में
हाँ यार दिला लाता हूं कहीं देरी ना हो जाये
की यार कहीँ देरी ना हो जाये ।।

Best Mother Shayari hindi Latest

की मैं डरा नही ।।
सामने मौत खड़ी थी
और मैं क्यों डरता मौत से ।।
मौत से पहले मेरी माँ खड़ी थी
मेरी माँ भी घबराई नही , पर क्यू घबराती मेरी माँ
मेरी माँ पापा के साथ खड़ी थी

कोई जलती गजल या कहानी नही ।।
कोई जलती गजल या कहानी नही अपने जजबात लाया हूं
उसके जाने के बाद जो उसे कह ना सका
ओ सारी बात लाया हूं
और उतरा हूं जंग के मैदान मे जीत मेरी मुकर्रर है मेरे दोस्त क्यूंकि की मैं अपने माँ के पैरों की धूल अपने साथ लाया हूं

माँ के पल्लू में नींद बड़ी अच्छी आती है ।।
मेरी दुनिया उसी में सिमट जाती है ।।
और मैं जीत लेता हूं उस एक बड़ी सच्चाई को भी
मौत भी पल्लू में झाँक कर वापस चली जाती है ।।

खुद के सपने हमारे आंखों में देखा करते है
हमे गाड़ी देकर खुद पैदल घुमा करते है
और कैसे छोड़ दूं उन्हें तेरे एक कहने पर
वो पापा है जो माँ से भी ज्यादा मोहब्बत किया करते है

बिना देखे Teri तस्वीर बना लेते है
बिना देखे तेरी तस्वीर बना Lete है बिना तेरे जाने हाल बता देते है ये तो मेरी Mohhabat की ताकत है तेरी आँखों के आशुओ को अपनी आंखों में ला सकते है ।

Mother shayari Hindi

[su_heading]More shayari and poem [/su_heading]

New Hindi Poem |Love Hindi Poem |

Hindi Love Shayri |New Hindi Poetry |

Poem On Father |Poem On Engineer|

pyar mohabbat shayari hindi 25+ new pyar shayari sms hindi

Pyar mohabbat shayari hindi me  – 

Hindi love shayari status,new love short shayari ,image love shayari 2020,new shayari ,shayari sms , pyar mohabbat shayari hindi new sms ,sms status shayari,pyar mohabbat shayari status,

 

जब पुकारना हो मुझे वो मेरा नाम भूल जाता है
उसे इश्क तो आता है पर इश्क करना भूल जाता है
और उसे कह दो यू मुस्कुरा कर ना देखे मुझे
ये दिल पागल है धड़कना भूल जाता है

तूने रिश्ता तोड़ा है मजबूरी होगा मैं मानता हूं
मुझे तो निभाने दे मैं तुझसे भला क्या मांगता हूं
और दर्द में देख कर तू मुझे मुस्कुरा रही है
मैं कितना पागल हूं कि तू हँसती रहे यही दुआ मांगता हूं

खुद से ही खुद को बदनाम करते है ।।
खुद से ही खुद को बदनाम करते है चलो उनका काम आसान करते है
और चुभने लगी है ये धड़कनो की आहटें मुझको
चलो इन्हें रोकने का इंतजाम करते है
और करके यू बे इंतहा यू जुल्म मुझपर कहती चलो आज तुम्हे माफ करते है
और धूल जमी थी खुद के चेहरे पर ।।
कहेती चलो आईना साफ करते हैं

की वक्त जाया ना कर मेरे  किरदार को पहचानने में
तू खुद एक कहानी बन जायेगा मेरे हकीकत जानने में
और चल दिये बेपरवाह देखने गहराई मेरे दिल की
इतना गहरा हूं कि जमाना निगल जाएगा मेरी गहराई नापने में

Hindi me Pyar mohabbat shayari sms 

की गिराले अपने नजरो से मुझे कितना ही
झुकने पर मजबूर मैं तुझे भी कर दूंगा और एक बार बदनाम करके तो देख मुझे महफ़िल में
कसम से शहर में मशहूर मै तुझे भी कर दूंगा

उसके जजबात मेरे हिचकियो से यू कहने लगे है
की अभी वक्त लगेगा तुम्हारी याद आने में
आजकल वो शूर्खियो में रहने लगी ।।

जिसने मुह मोड़ लिया हमसे
अब उसके दर पर क्या रखा है
मैं खुश हूं अपने आज में जनाब
अब उस कल में क्या रखा है

ये शहर क्यों मदहोश हुआ जा रहा है
ये हवाओ में रंगत क्यों बिखरी हुई है
ये कोई खेल नही है मौशम का, जनाब वो अपने बाल खोलकर निकली हुई है घर से ।।

ये क्या हुआ कि हमारा दिल हमारा नही लगता
एक आप के चेहरे से सुंदर कोई नजारा नही लागत ।।
और उस चाँद को बहुत गुरुर था खुद पर हमने आप की तस्वीर दिखा दिया अब वो खुद को ही प्यारा नही लगता ।।

ये कौन है इतना खूबसूरत , ये नजारा कैसा है ।।
की मेहताब जहेन में सोच रहा है की मैं फलक पे हूं इस समय ये जमीन पर उजाला कैसा है

New pyar mohabbat shayari status

अल्फाजो का खुराक बनाकर पिये हैं
हर शाम में तेरा नाम मिलाकर पिए हैं
मत इतना बेगैरत कर मुझे खुद से अलग करने में
तेरे याद में सल्फाश को जाम में मिलाकर पिएं है ।।

तुम्हारी सुर्ख आंखों को कयामत मैं समझता हूं
तुम्हारी हर इजाजत को इबादत मैं समझता हूं ।।
तुम्हारी बात अधूरी है बखूबी मैं समझता हूं
तुम्हारा साथ जरूरी है बखूबी मैं समझता हूं

तुम्हारी राँहे ताकत हूं तुम्ही से आँहें भरता हूं
तुम्हारी याद में जीने को सदाकत मैं समझता हूं
कभी ना थी मेरी किस्मत किसी कि वो जरूरत है
उसी को जान छिड़कने को मोहब्बत मैं समझता हूं

अनजान हूं मै इस शहर से बताओ कोई रास्ता है क्या
की मैं अनजान हूं इस शहर से बताओ कोई रास्ता है क्या ।।
पेट दर्द , सिर दर्द , बुखार सबका इलाज है है
बताओ इश्क का इलाज है क्या ।।

गमो की सुई कुछ इस तरह चुभ रही है मेरे सीने में
की अब तकलीफ हो रही है मुझे जीने में
जाओ और उसे जा कर कह दो
की अब जरूरत नही मुझे उसकी मेरे पास मेरी शराब है लगाने के लिए मेरे सीने से ।।

अरे जा अब तू बन किसी का भी
अरे जा तू बन किसी का भी अबे तेरा जिक्र तक नही करेंगे
जब भी याद आएंगे तेरे बेवफाई के किस्से
तो तेरे ऊपर एक शायरी लिखेंगे और तेरा फिक्र तक नही करेंगे ।।

रात हो गयी मैं सुबह का इंतजार कल फिर करुँगा ।।
प्यार एक तरफ़ा है तो क्या हुआ
तुम दिल किससे लगाना मैं तुम्हारा इंतजार जिंदगी भर करूँगा  ।।

मुझे पता है कि प्यार करना सौख है तुम्हारा ।।
ये सौख हमारे साथ भी पूरा कर लो
जख्म तो भर नही सकते तो जख्म पूरा होने का ही काम कर दो ।।

परिंदे इतना ऊंचा उड़ गए मैने देख नही पा रहा
ये रिस्ते टूटते टूटते बिखर गए मैने समेट नही पा रहा
चारो ओर बस धुंआ है इसलिए मैं आसमा नही देख पा रहा
लहरो का कोई कसूर नही मुखे डुबाने का ये तो मैं ही हूं जो नाव सम्भाल नही पा रहा

मैं वो चिराग नही जो हवा से डर जाऊ
मैं वो राही नही जो रास्ता भटक जाऊ
है दर्दो की बौछार तो चल रही
लेकिन मैं वो आइना नही जो टूट कर बिखर जाउ ।।

भरोसे शब्द से ही अब नफरत सी होने लगी
उसकी अब किसी और को चाहने लगी
मुझे भिगाने के लिए बे मौसम बरसात होने लगी
छोड़ेगी ना कभी कमबख्त इतने कसम मेरी ही खाई थी
अब पता चला की अचानक मेरी तबीयत खराब क्यों होने लगी ।।

अब तो हर कोई दिल तोड़ता जा रहा है
चोर चोरी छुपे नही दीवार तोड़ अंदर आ रहा है
दिल का दर्द और आंखों का पानी बढ़ता जा रहा है
वो सख्स खुद को वफादार बता रहा है लेकिन मैं क्या करूं
मुझे तो हर कोई बेईमान नजर आ रहा है ।।

अब मैं रोने वाला हूं खुदा ने ऐसा मुझे ख्वाब दिखा दिया था उसके और मेरे बारे में सबको मैंने बता दिया था
चलो शुक्र है कि मुझे कहि और से खबर नही मिली
अब कोई और पसंद है उसने मुझे खुद बता दिया था ।।

मुझे झूमा दे इस कदर तुझमें नशा नही
इश्क के मंजर में हर जगह वफा नही
मोहब्बत की मर्ज की जहाँ में दवा नही
और तेरे सामने झुका दे सर हम अरे जा तू खुदा नही

आग के पास जाना नही जल के खाक हो सकते हो
हद से ज्यादा शराब अच्छी नहीं बीमार हो सकते हो
और गलती से इश्क के चक्कर मे फसना नही ।।
ना तो यार बर्बाद हो सकते हो

Shayari

Love pyar mohabbat shayari hindi

Love Shayari Hindi |शायरी | Hindi Shayari for life/सेर शायरी

Hindi Love Shayari 2020

हर पल ये दिल तेरे नाम की माला जपता है और देख लू को तुझे दिल मचल पड़ता है और कैसी दीवानगी बताऊ ऐ सनम तुझे ये हाथ भी तेरे हाथ को थामने के लिए तड़पता है

 

तुम्हे कमर से पकडूँगा और सीने से लगा लूंगा
तुम्हे अपने दिल की हर बात बता दूंगा
घबराना मत मुझपे भरोसा रखना एक ना एक दिन तुम्हे मैं अपना बना लूंगा

तुम्हे कमर से पकडूँगा और सीने से लगा लूंगा तुम्हे अपने दिल की हर बात बता दूंगा घबराना मत मुझपे भरोसा रखना एक ना एक दिन तुम्हे मैं अपना बना लूंगा

तुम्हारे लिए मैने खुद को बदल लिया
तुम्हारी पसंद को मैं अपनी पसंद बना लिया
फिर क्या कमी रह गयी मेरे प्यार में
जो तुमने मुझे छोड़ने का मन बना लिया
और अगर छोड़ना ही था लब्जो में बोल देते ….
अगर छोड़ना ही था लब्जो में बोल देते यू इस कदर मेरे दुश्मन से हाथ मिला लिया

ऐ दुश्मन तेरा सुक्रिया जो तूने मुझे छुपे अपने गैरो से मिला दिया
और हम तो प्यार करके हिंरो बनने चले थे
उस बेवफा ने दिल तोड़ कर विलन बना दिया

की मेरा दिल तोड़ कर चली गयी एक दिन तेरा भी दिल तोड़ कर जाएगी और ना जाने वो कहाँ कहाँ जाएगी करलो कोई बेवफाई की प्रतियोगिता मा कसम मेरी वाली No.1 आएगी

की मुझे बर्बाद करने में तेरा हाथ है और खुद को कामयाब करने के लिए सीने में आ गए ऐ बेवफा तुझे बताना भी तो है वो कल था ये आज है

की मैं समझता था कि सच्चा प्यार लब्जो में नही आंखों दिखता है धोखे बाजो का जमाना है जनाब बच के रहिएगा यहां सच्चा प्यार भी पैसों में बिकता है

Bewfai Love shayari

की बार बार मुझे अपना कह कर …

बार बार मुझे अपना कह कर झूठे प्यार को सच मे बदल कर दिखलाती हो और तवज्जों की बात ये हो गयी प्यार मुझसे करती हो साथ किसी और का निभाती हो

की मेरी मोहब्बत की हेरा फेरी हो गई
मेरी मोहब्बत की हेरा फेरी हो गई….
कल तक मेरी थी आज तेरी हो गयी

Dosti Love shayari hindi

ऐ दोस्त तू क्यों उदास है
किसी लड़की ने धोखा दिया तो बता
दूसरी पटवा देंगे
किसी से लड़ाई हुई नाम बता
घर से उठवा देंगे

Hindi Dard shayari

दर्द है इस दिल मे बता नही सकता
इसलिए शायरी का सहारा लिया मैने
ऐ सनम तू क्यू घबराती हो
तुम्हे बदनाम नही करूँगा
पूरी शायरी में तुम्हारा जिक्र नही किया मैंने

तुम पैसों में खरीदना चाहते हो..
मैं बाह्यबाही में बिक जाता हूँ
मैं शायर हूँ जनाब हर किसी का दर्द सुनाता हूँ

जरा सी बात क्या बोली मैने लोग मेरी गलती गिनाने लगे जरा सा लड़ क्या लिया अपनो से अपने भी गैर बताने लगे

हिंदी में लव शायरी

मोहब्बत की बात जहाँ जहाँ आती है
की मोहब्बत की बात जहाँ जहाँ आती है
तेरी कसम तेरी याद आती है
और बुलाने की कोसिस बहोत करता हूँ
पर हर रोज तेरी याद आती है

चार दिन की मोहब्बत के बाद हम बिस्तर होने की फरमाइस होती है
मोहब्बत में जिस्म की नुमाइश होती है
और बहोत ही बेवफा हो गए है लोग
हर चौथे दिन नई मोहब्बत होती है

दीवाना था नही दीवाना बनाया गया है की दीवाना था नही दीवाना बनाया गया है आंखों से तीर चलाया गया है और ना कसूर इसका ना कसूर उसकी आँखों का आज आंखों में काजल लगाया गया है

मुझे मुसीबत नही उन लोगो से जो मेरा मजाक बनाते है
की मुझे मुसीबत नही उन लोगो से जो मेरा मजाक बनाते है ..
मुझे बहोत अच्छा लगता है जब लोग मुझे पागल बताते है

वफा की बांते करने दो उन्हें हम बेवफा ही अच्छे है
मनाना गिड़गिड़ाना रकीब के लिए रखो हम खफा ही अच्छे है

बस में होता तो तुझे जाने ही ना देता शबे हिज्र कभी आने ही ना देता पता ही होता मुझे अंजाम जो तो खुद का ही घर जलाने ना देता

[su_box title=”Shayari” style=”soft” box_color=”#3bec1a”]मैं कुछ कहूं तो तुम मानते ही नही हो जख्म भारत हूँ मैं भी तुम जानते नही हो मालूम है धोखे मीले है पिछले प्यार में तुझको मेरी वफा तो जानते हो मगर तुम मानते नही हो[/su_box]

मैं खोया खोया सा था कही तू मंजिल की तरह आयी है ।
मैं खोया खोया सा था कही तू मंजिल की तरह आयी है..
मैं सारे सेर अधूरा छोड़ देता था तू मुकम्मल gazal की तरह आयी है

Mohbbat hindi shayari

खुशबू बदन की यू उड़ाने में लगा है…
खुशबू बदन की यू उड़ाने में लगा है मिलते ही सर्मा के नजर यू झुकाने में लगा है
और खुद से खुद में कभी मिले नही हम
जामाना हमको हमारी तस्वीर समझाने में लगा है
और छोड़ना भी चाहता है और कहेना भी नही
इसी लिए वो सब्र हमारा आजमाने में लगा है
और उसके दिल का है कुछ समझ नही आता हमे छोड़ बाकी सारे जमाने मे लगा है

रकीब बड़े गुमान में है कि बाप को
बाप बनने की तरकीब सीखाने में लगा है
की बाप बनने की तरकीब सीखाने में लगा है और इश्क़ का ये कैसा दौर आ गया है खुदा जाने
पहले ही मुलाकात से मजनू सेज सजाने में लगा है

और अब तो बिना बात किये रुठने का मन करता है उससे
जबसे वो सख्स चाय बनाकर हमे मनाने में लगा है
और अभी तो रोशन हुआ भी नही है कौशिक
की काफिला हमे अभी से बुझाने में लगा है

तेरे साथ से मोहब्बत का इक बीज बोना है
हिफाजत से रखना दिल है । ना की कोई खिलौना है
और जमाने की नापाक नजरो से बचा कर रखूंगा
तेरे नाम का मेरे दिल मे इक कोना है
और इकरारे मोहब्बत का ये ऐलान करती है
की तेरे साथ मुझे बूढ़ा होना है

और मसर्रत (खुसी) दुगुनी हो जाये तेरे साथ बॉटने से
उदासी में तेरे साने (कंधे) पर सरक के रोना है
जब कौसिक पोती पोतियों को कहानिया सुनाएगा
तुम्हे उसमे एक अहेम किरदार को संजोना है

फजा मध्यम बहने लगी गुल खिलाने लगे
किसी अफसरा के जन्नत सा उसका दरस रहा है
और एक खेत सुखा है कतराए बूंद भी नही
इक लबा लब भरा है पानी वही बरस रहा है
किसी के लिए इश्क़ भी खुशनुमा रहा होगा
हमारे बदन में तो घुलता चर-स रहा है
और ऐसी जन्नत सा भरा देखना भला नर्क ही बेहतर होगा
दूध नाली में है और सवाली पीने को तरस रहा है

hindi mein sher shayari | Love shayari | Romantik sher and best shayari in hindi

हिंदी में शेर और Shayari के लिए क्लिक करे 

हमने सोचा ये मोहब्बत थी उनकी ..
हमने सोचा ये मोहब्बत थी उनकी पर जजबातो से खेलने की आदत थी उनकी कहते थे इश्क है मुझे दिलो जान से पर झूठ कहने की फितरत थी उनकी
तुझे इक तोहफा देना चाहती हूँ बिना नाम के तुझे पहचान देना चाहती हूँ
तेरी बेवफाई के किस्से सरेआम करना चाहती हूँ
अगर खेल होती मोहब्बत सच मे तो तुझे उस खेल का बादशाह बनाना चाहती हूँ
तुझसे ना मिलते तो अच्छा था आंखे चार ना करते तो अच्छा था
चलो हो गई Mohabbat उन्हें भी छोड़ो ये हाले दिल जुबा पर ना लाते तो भी अच्छा था
हमसा इश्क ना करेगा कोई तुमसे चाहे सारे जहा में देख लो
जिसे कहते हो तुम आज कल अपना उसे जरा आजमा कर तो देख लो …

 Sher और शायरी का आनन्द लो 

[su_box title=”1″ style=”bubbles” box_color=”#ff4feb”]आज वक्त है तेरा कल दौर मेरा भी आएगा … आज वक्त है तेरा कल दौर मेरा भी आएगा जब रखेगा तू हसरते मेरी पर मुझे कुछ समझ ना आएगा[/su_box]

[su_box title=”2″ style=”bubbles” box_color=”#ff4feb”]सूरत सवारने की जरूरत नही … सूरत सवारने की जरूरत नही सादगी से घायल करती हूँ मांथे पर बिंदी आंखों में काजल बस यही लगाया करती हूँ और जिस दिन मंदिर पहोच जाऊ उन दीवानों की फरियाद पूरी करती हूँ[/su_box]

[su_box title=”3″ style=”glass” box_color=”#ff4feb”]मेरा दुसरो को देखनो उसे रास नही आता वो साथ तो है मगर पास नही आता यू तो नराज होता है मुझे गैरो के साथ देखकर कहना बहोत कुछ चाहता है बस कह नही पाता और आंखों ही आंखों में हो रही है मोहब्बत वो दिल मे है मगर दिल के पार नही आता मेरी इश्क की महफ़िल कुछ इसकदर सज रही है रातो में उसके अलावा कोई ख्वाब नही आता और चाहतो की एक चीज खास है उसमें उसे मौसमो की तरह बदलना नही आता[/su_box]
[su_box title=”4″ style=”soft” box_color=”#8fff4f”]जानती हूँ कहना बहोत कुछ चाहता है मुझसे.. की जानती हूँ कहना बहोत कुछ चाहता है मुझसे बस उसे बांते करने का बहाना नही आता और यू तो वो मेरा इजहार सूरत से पढ़ पाता है लबो से पूरा करना चाहता है बस कर नही पाता[/su_box]

[su_box title=”5″ style=”glass” box_color=”#4ff3ff”]हर रोज उसकी नाम की बिंदी लगती हूँ .. हर रोज उसकी नाम की बिंदी लगती हूँ कहि दिखे तो पलके झुका मुस्कुरा जाती हूँ और तेरे जाने के बाद जाना कुछ नही बदला मैं आज भी तेरा नाम सुनकर सर्मा जाती हूँ[/su_box]

इनायत उसकी कुछ इस कदर है मुझपे मैं खुद में बिखर रही हूँ उसकी मोहब्बत में सँवर के

की हर अंधेर रौशनी में लग गया ….
हर अंधेर रौशनी में लग गया जिसे देखो शायरी में लग गया और भीड़ लग गयी महफ़िल में जब हर दिल जला शायर बन गया

वो आखिरी मुलाकात उसके हाथों में मेरा हाथ
निगाहों में थे सवाल और दिल मे था बवाल
बहोत सवाल थे पूछने को उसकी इस बेरुखी से जूझने को दिल की धड़कनें बढ़ रही थी मैं इतना सज सवँर के क्यू गयी थी
उसने जुल्फों को चेहरे से हटाया मेरे कोमल गालो पर अपना हाथ फहराया वो लम्हा थम सा गया मैं खुद को रोक नही पाई
उसकी बाहों में जा समायी उससे लिपट कर मैं जब रोने को आई हटाकर गले से फिर करदी बेवफाई

हमने उनसे मोहब्बत की थी उन्हो ने चाय से मोहब्बत की थी …
हमने उनसे मोहब्बत की थी उन्हो ने चाय से मोहब्बत की थी
हमने चाय को लबो से लगा लिया उन्हो ने लबो के लबो से मोहब्बत की थी Continue reading hindi mein sher shayari | Love shayari | Romantik sher and best shayari in hindi

Love poems in hindi – love shayari | Heart touching love poetry| romantik poem

Love poems hindi me

जो मुरझा जाए फूल इक दफा ।
जो मुरझा जाए फूल इक दफा तो लाख पानी डालने पर कहा खिलता है ये जिस्म बॉटने वाले तो हर गली और चौराहे पर है कोई ये बताओ ये दुख और दर्द बॉटने वाला कहा मिलता है

बाते अब जो प्यार से नही होती बता कोई रुसवाई है क्या ।।
बाते अब जो प्यार से नही होती बता कोई रुसवाई है क्या . एक के बाद एक दिल पर जख्म दिए जा रहा तो सुन तू कोई कसाई है क्या

बस पल दो पल नही हर साथ साथ चलूंगी …
बस पल दो पल नही हर साथ साथ चलूंगी मैं रौशनी की कुछ खास चाह नही मुझे हर अँधेयार साथ चलूंगी मैं कोई दरिया जो मिल गया तो ठीक है वर्ना हर प्यास साथ चलूंगी मै

रास्ते लम्बे तय करने हैं ना तुझे ….
रास्ते लम्बे तय करने हैं ना तुझे हो मुस्किल या आसान साथ चलूंगी मै जन्नत तो देखली मैने जो देखनी थी अब हर समशान साथ चलूंगी मैं
विदेश के सपने मैंने देखकर छोड़ दिया जाना ।।

विदेश के सपने मैंने देखकर छोड़ दिया जाना तेरा घर है ना वहाँ तो ठीक है प्रयागराज साथ चलूंगी मैं तू खुशियॉ दे देना तोड़ी सी हमे फिर देखना हर वनवास साथ चलूंगी मैं
बस पल दो पल नही हर साथ साथ चलूंगी मै

इक वक्त था …इक वक्त था जब लगता था तेरे होने से हर रात सुहानी पर अब तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है वफादार बना बैठा है तू दुनिया की नजरों में पर अब मैने भी

हर महफिल में तेरी ही बेवफाई सुनानी है की तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है तू रखना अपनी अकड़ तराजू के पलड़े पर दूसरे पर मै अपनी मेहनत रख दूँगी

क्यू की जो तेरी दो कौड़ी की अकड़ है ना अभी मिट्टी में मिलानी है
की तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है तुझे अब भी लगता है की तुझपे मरती हूँ मैं अब दिल से नही जाना दिमाग से फैसले करती हूं मैं

बहोत सी गलत फैमिया जो दूर करनी है बहोत सी बातें हैं जो तुझे समझानी है की तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है
अब मुझे फरक नही पड़ता …
की अब मुझे फरक नही पड़ता तू कसम खा या जहर तेरी सेहत की चिंता होती थी मुझे अब वो बात बित जाना बहोत पुरानी है कि तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है

अब देख तुझे औरो कि बाहो में दिल मेरा रोता नही है ..
अब देख तुझे औरो कि बाहो में दिल मेरा रोता नही है अब चिंता नही मुझे की क्यू तू चैन से सोता नही है क्युकी इन सब चीजों से ऊपर उठ चुकी हूँ मै तेरी जगह अपनी कलम को चुन चुकी हूँ मै और अब इस कलम से मुझे मेरी इक पहचान बनानी है की तू जरा ठहर तुझे तेरी औकात दिखानी है

Ser and love shayari in hindi

तेरे इन्तजार में मेरे सभ्य का धागा ना झूट जाए ।।
तेरे इन्तजार में मेरे सभ्य का धागा ना झूट जाए और तब तुम मत आना जब सास ही छूट जाए मत पूछ अजनबी इस दिल को दुखाने वाले का नाम बड़ा दुखता है ये दिल जब लेता है उसका नाम

की अब तक इन निगाहों को कोई भाया नही ..
अब तक इन निगाहों को कोई भाया ही नही जो भाया वो हमारा हुआ भी नही और हर बार तो कह चुकी थी उसकी बेरुखी उन्हें हमसे मोहब्बत ही नही फिर भी हमको उन्ही से मोहब्बत  और दिल तो हमारा भी कह चुका था तुम इस मोहब्बत के काबिल नही फिर भी हमे जिद थी तुम्ही से दिल लगाने की

कितना अजब सा मंजर था मेरी जिंदगी के सफर का
कितना अजब सा मंजर था मेरी जिंदगी के सफर का मुझे वहां ठहरने का इरादा था जहा मंजिल करीब नही

प्यार में मिली एक Bewfa से सौगात लिखनी है …
प्यार में मिली एक बेवफा से सौगात लिखनी है जिन लोगो के दिलो में भी दिमाग है मुझे उनकी औकात लिखनी है

अब किस दील से तुझे बद्दुआ दू ।
अब किस दील से तुझे बद्दुआ दू दिल मे भी तू है सब नफरत में भी शामिल हो गया ।
अरे कुछ तो शर्म कर कितना भरोशा करती है ।।
अरे कुछ तो शर्म कर कितना भरोशा करती है तुझपे तू अपने मतलब के लिए क्या किसी से बात कर लेगा

खुद से नजर ना मिला पाऊँ ।
खुद से नजर ना मिला पाऊँ कुछ ऐसा कायर बना दिया और घर वालो से इतना झूठ बोल की लायर बना दिया आज मैं यहा हूँ तेरी इश्क की वजह से कंबख्त तेरी इश्क़ ने शायर बना दिया
वो फिर एक बार गहेरो की इश्क़ में ढल रहा है ..
वो फिर एक बार गहेरो की इश्क़ में ढल रहा है ये तो पुरानी आदत है कौन कहता है बदल रहा है सदमा सा लगा है मुझे लगता है फिर कुछ जल रहा है बे इंतहा इश्क़ है मुझसे ऐसा हमारा गुजरा कल रहा है

Hindi shayari Love poems

कुछ सवाल पूछ लू क्या उससे ।।
कुछ सवाल पूछ लू क्या मैं उससे खैर छोड़ो कहानी बताएगा सौ कसमे खायेगा मुझे लगेगा फिर सम्भल रहा है
और मुखे लगेगा फिर सम्भल रहा है मगर निहायती बेशर्म है देखो झूठ बोलकर कैसे उछल रहा है रँगे हाथ पकड़ा है मैंने जहा जहा तेरा इश्क़ चल रहा है

तेरे बदलते रंग ना समझू इतनी जाहिल नही हूँ मैं होगा गुरुर तेरे इश्क़ की दरिया पर तेरे दरिया का शाहिल नही हूँ मैं
माना हजार है आशिक है तेरे ।।

माना हजार है आशिक है तेरे पर उन हजारो में शामिल नही हूँ मैं तेरी दिखाई उस झूठ दुनिया की तरह Badhu..
इतनी आमिल नही हूँ मैं और क्या अफवाह उड़ाई है तूने की क्या तेरे काबिल नही हूँ मैं मेरी कदर उनसे पूछ जिन्हें हासिल नही हूँ मै

नींद तो आतीं है लेकिन रातो में अब ओ बात नही तू उम्र भर चाहेगा ऐसे मेरे ख्यालात नही और फिर बह जाऊँ मैं तेरे जजबातो में अब ऐसे मेरे ख्यालात नही ।।

पोछे थे आंसू जिससे …
पोछे थे आंसू जिससे तूने वो रुमाल आज भी मेरे पास है लाख shayari लिख लू तेरे लिए बेवफाई की लेकिन सच मान जाना तू आज भी उतना खास है
तू याद करता है ना जाने क्यों ये एहसास है उतार फेक ये नफरत का जो तूने पहना लिवाज है झुक रही हूँ शायरी के जरिये ।

झुक रही हूँ शायरी के जरिये मगर ये मत भूल तेरे सारे दिए हुए जख्मो का हिसाब है
लहजा बदला है मैंने लेकिन आज भी फितरत खुली किताब है रंगे इश्क़ चार दिन का हैं और तू गलत फैमि में जी रहा है की उत्ता उम्र सवाब है

उसने भी क्या खूब वफ़ा निभाई है ।।
उसने भी क्या खूब वफ़ा निभाई है शादी में अपने मेरे इन हाथो से मेहंदी लगवायी है दर्द बहोत था सीने में मैने भी उस दिन सबको झूठी मुशकुराहट दिखाई है हा मैंने उसकी दुल्हन अपने हाँथो से सजाई है

Poem And Shayari In Hindi 2020 

love poem in hindi | poems – love poems for her| shayari in love-poetry

Poems Hindi 2020 –

  1. ये वक्त बड़ा बेदर्द है….
    ये वक्त बड़ा बेदर्द है किस वक्त दर्द देगा वो वक्त भी नही बताता
    सुबह जगाता है दिन में भगाता है रातो में रुलाता है इतना सताता है किसी से कहूँ या कोई बताएगा मुझे कम्बख्त ये क्या चाहता है

ये वक्त बड़ा बेदर्द है किस वक्त दर्द देगा ये वक्त नही बताता है फस गए हम क्या करे इसके साथ चले इससे दोस्ती करे या फिर  इससे लड़े
तभी कहा वक्त के हमसफ़र ने मुझसे की साहब ये वक्त है और कुछ नही थोड़ा वक्त चाहता है

मैने कहा माना कि तेरा वक्त वक्त चाहता है कभी अच्छा तो कभी बुरा आता है मगर ये हमे सोने भी नही देता और सपने बड़े दिखाता है
ये वक्त बड़ा बेदर्द है किस वक्त दर्द देगा वो वक्त भी नही बताता
इसे तक तक के आंखे थक थक सी गयी है
कब गुजरेगा बड़ा चालॉक है हमे सुलाकर खूद गुज़र जाता है
ये वक्त बड़ा बेदर्द है किस वक्त दर्द देगा ये वक्त भी नही बताता है

Poem hindi

किस बात का गुरुर है उनको जो अपने आप मे चलते फिरतेहै अपने ही अंदाज में इतना उछलते है उन्हें बता दू साहब ये दुनिया देखती भी उनको है जो नग्घे फिरते है

दुसरो पे हसने वालो कभी खुद पर हसके देखो बस यूं बैठ कर तमाशा मत देखो वो तो बन्दर है उछलता था उछलता है उछलता ही रहेगा

कभी तुम भी रस्सी पर चल कर देखो
अनजाने में अगर अनजाने से आंख लड़जाये तो वो इश्क़ है
जरा संभल कर करना इसमें बड़ी रिस्क है
कुछ लोग तो आजमाते ही नही ईसे की कहि मर ना जाये ..
कौन बताये इसमें जान दो है मगर जिस्म एक

2 .ना धुंआ होगा ना जाम होगा
ना धुंआ होगा ना जाम होगा जब वो आएगी मुझसे मिलने तो आसमान में ऐलान होगा
कड़केगी बिजली बरसेगें बादल क्योंकि इजहार इश्क़ का उस दिन सरे आम होगा

3 .वो चाँद ही नही जिसमे तेरा चेहरा ना हो
की वो चाँद ही नही जिसमे तेरा चेहरा ना हो वो गली ही नही जिसमे आशिको का पहरा ना हो
मैं अपने दुश्मनों को भी जंग के बाद गले लगाता हूँ
तेरी बेवफाई का घाव कहि इससे गहरा ना हो

New poem

4 .तेरे जाने से पहले कसकर गले लगाना है तुझे
तेरे जाने से पहले कसकर गले लगाना है तुझे …..
मेरे ख्वाहिश पर शक मत करना बड़े अरसे से बाहर खड़ा था
अब मंदिर अंदर आना है मुझे
तुम जिसके हो उसका किसी और का होना ……..
बहुत बाकी है खाली बोतल से मोहब्बत होना
मजबूरियों में अपने सपने खोने पड़ते है आशा नही होता घर का बड़े बेटा होना

5 .मोहब्बत में मोहब्बत से मोहब्बत होनी चाहिए
मोहब्बत में मोहब्बत से मोहब्बत होनी चाहिए …
वफ़ा की जिस्म से तौला है तुमने अपने होठों से कुछ हो न हो सजा ये मौत होने चाहिए ।

मेरी आँखों में कितने समंदर बसे
दिल कहता है मैन खंजर सहे मैने मेरे पैरों से पूछे कोई  तेरे रास्तो से कितने है कांटे चुभे
इन हवाओं से एक शिकायत सी है तुझे छूकर ये मुझपर आती क्यों नही
लोग कहते है कि तू है जा चुकी तेरी ख्वाहिश इस दिल क्यों जाती नही

हम मिलेंगे है इसका भरोसा मुझे चाहे लड़ना पड़े इस जहा से मिझे बदलूंगा हाँथो की लकीरो को मैं
चाहे लेने पड़े छः जन्म और मुझे …

6 .दावते कई मिली है हमे
दावते कई मिली है हमे गैर मन के हमे वहा जाना नही
जो औरो का होकर हमसे मीले वो औरो का होगा हमारा नही
यू जिस्मो की चाह से ना तौलो हमे …
उसको चहरे से नीचे कभी देखा नही
क्यो कहते हो मिझको तुम हारा हुआ ये मिलकियत का खेल हमने खेल हमने खेला नही

7.मेरे अपने कांटे बोएंगे ...
मेरे अपने कांटे बोएंगे मैं नग्घे पाव खुद जाऊंगा
तेरे अपने तुझे छुपा लेंगे मैं खूब शोर मचाऊंगा ये लोग जीने देंगे नही

सपनो का जीवन कैसे पाऊंगा तुम स्वर्ग से मुझको प्यार भेजना मैं जन्नत से इश्क़ लुटाऊंगा
जीते जी हम मिल ना सके मैं मर कर भी तुमको चाहूंगा
मोहब्बत मिली किसी और को हमको तो केवल दिलासा मिला
आंखों से नमक बहा रात भर.. सुबह होकर भी हमको न सूरज मिला

लोगो ने मसाले मले जख्म पर...
लोगो ने मसाले मले जख्म पर तेरी आँखों से एक बार भी आंसू न गिरा
जो पत्थर हमपे उछाले गए उन पत्थरो पर था नाम तेरा लिखा
बड़ी शिद्दत से हमको सताया गया हमारी बर्बादी का जश्न मनाया गया भीन भिनाते जुगुनू हूँ ये मान लो
मैं मंदिर का दीपक हूँ ये जान लो कल सुबह फिर से जरूँगा मैं
रात भर की महोलत है मजे मार लो

Gajal ser and shayari

वो मेरी चलती रहम है गमो के कांटे बिछा कर गयी है …
की वो मेरी चलती रहम है गमो के कांटे बिछा कर गयी है इश्क़ मत करना धोखा है सीखा कर गयी है
आज मैंने किसी के घर पर फिर वही चाँद देखा ..

आज मैंने किसी के घर पर फिर वही चाँद देखा कहता था कि मैं डरता हूँ और अंधेरे में निकलकर देखा
जब मैंने उससे मिलने उसकी दहलीज पर गया तब पड़ोसियों ने कहा कि मैने निकलते हुए देखा है उसे आज कल उसको
और मैं मन्दिर मन्दिर दिए जला रहा था पाने को उसे
“खुदा ने कहा कुछ नही मिलेगा मैने भेजा है किसी और का दुल्हन बनाने को उसे ..:

मैने मेरे दिल मे कुछ खिलौने रखें थे प्यार के ..
मैने मेरे दिल मे कुछ खिलौने रखें थे प्यार के और खेलकर चली गयी जैसे हो उसके
और ये अलग मुझे तुझसे इश्क़ है अगर हो तुझे भी खेलते रह जिंदगी भर उससे
जो ठुकरा रहा है ठुकराने दो उसको आज पता कल आने तो दो और मेरी हाथो की लकीरें मुझसे जवाब मांग रही है की तकदीर बना दू

मैने कहा अभी नही अभी मैं उसके घर जाता हूँ उसको घर आने दो
“”:जो कह रहा है वो देख तेरे से आगे निकल गया “अरे उसे किस्मत मिली है मुझे किस्मत तो बनाने दो ..:””
जिंदगी क्या है तू मुझे मत सिखा मुझे मालूम है लगी हुई आग तेरी है मुझे बुझाने तो दो और जो कहते थे कि हम तेरे है तेरे ही रहेंगे उसी ने कहा बहोत हसा लिया अब जरा रुलाने तो दो
और तुम मेरी मोहब्बत को मतलबी मत समझो उसने मुझे समझने के लिये दिमाग लगाया है उसे दिल लगाने तो दो

Love poem in hindi 

Love Shayari | beautiful hindi love shayari | शायरी 2020

हिंदी में शायरीlove shayari

  • हिंदी लव शायरी 2020 .beautiful hindi love shayariहिंदी में शायरी .लव शायरी हिंदी में ,दिल शायरी इश्क शायरी ,मोहब्बत शायरी 2020 ,hindi shayari love shayari, दिल लगा शायरी , 2020 की नई शायरी हिंदी मेंं ,प्यार वाली शायरी , दिल खुस शायरी , 

[su_box title=”शायरी ” style=”bubbles” box_color=”#eb1aec”]◆ बिना देखे तेरी तस्वीर बना लेते है .. बिना देखे तेरी तस्वीर बना लेते है बिना तेरे जाने हाल बता देते है ये तो मेरी मोहब्बत की ताकत है तेरी आँखों के आशुओ को अपनी आंखों में ला सकते है ।[/su_box]

कितना करीब था चाँद हमारे हमने तब भी उसको नही छुआ
कितना करीब था चाँद हमारे हमने तब भी उसको नही छुआ
जब दूर हुआ तो दाग दिखा चलो अच्छा हुआ जो नही छुआ
तेरी नजर कही तेरा जिस्म कही तेरा इश्क़ कही वो भला मेरा क्या होता जो खुद का नही हुआ ।

उससे ही इश्क़ , उससे ही नफरत ,उससे ही गिला
क्या किसीको कोशिये ये दिल ही हमारा नही हुआ
और तू मिल भी जाती तो तुझे खोने का डर रहता ।
तू मिल भी जाती तो तुझे खोने का डर रहता मतलब जो भी हुआ अच्छा ही हुआ ।

In आँखों मे कभी आग थी।
इन आँखों मे कभी आग थी अब जो पानी है सब तेरी मेहरबानी है
और कैसे करूँ यकीन तेरे फलसफे का ये भी तो तेरी जबानी है
इश्क़ और शियासत दोनो क्या परवाह अंजामों की ।
इश्क़ और शियासत दोनो क्या परवाह अंजामों की इनको तो बस आग लगानी है

और जैसी तू समझी है वैसी कोई बात नही है
जैसी तू समझी है वैसी कोई बात नही है ये अलग बात है तुमको तो बस बात बढ़ानी है ।
की एक तमन्ना बाकी है मेरी जिंदगी में तेरी माथे से मुझे दफा जुल्फ हटानी है

मैं दूर से तौबा कर लूंगा
की मैं दूर से तौबा कर लूंगा अगर तुमसा मिला कभी
और तुम जरा सी रहम खा लेना अगर हमसा मिला कभी ।

 

dil love Shayari

अभी कुछ बात आगे बढ़ी ही थी
अभी कुछ बात आगे बढ़ी ही थी
अभी कुछ ख्वाब आगे देखी ही थी
दो दिलो के परिंदों ने उड़ान अभी भारी ही थी
कम्बख्त मोहब्बत के दुश्मनों ने दिल के दरवाजे पर दस्खत दे दिए

चलो इश्क की वादियों में अब मैं भी खो जाता हूँ
चलो इश्क की वादियों में अब मैं भी खो जाता हूँ
दिल मे तेरे मोहब्बत का बीज बो जाता हूँ पहले तो खत्म करता हूँ सारी परेशानियों को तेरी अगर मुझसे ही दिक्कत है तो मैं ही खत्म जो जाता हूँ

माना की तेरी महफिलों में मेहताब बहुत है
माना की तेरी महफिलों में मेहताब बहुत है मैं चिराग हूँ खुद को बूझो जाता हूँ

और रास्ता सफर मंजिल सब मालूम है मुझे कोई खरगोश नही हूँ जो जरा दौड़ के सो जाता हूँ
शादियों के रिश्ते को एक पल में तोड़ गयी कहती थी अपना बनाकर छोडूंगी

कम्बख्त अपना बनाकर छोड़ गई
उजालो का दामन छोड़ दिया मैंने ।
उजालो का दामन छोड़ दिया मैंने अंधेरो में रहना सिख लिया है मतलबीओ से अब वास्ता ही नही जुगनुओं से कहना सिख लिया है

Hindi me love Shayari click

वो पर्वत है तो खड़े रहे अपनी जगह ।
वो पर्वत है तो खड़े रहे अपनी जगह हमने दारिया बनकर बहना सिख लिया है
की दिल तो अब जोरो से धड़कता ही नही इसने भी चुप रहना सिख लिया है
अब उनकी मर्जी गाली दे हमको या गोली से मार डाले ।

अब उनकी मर्जी गाली दे हमको या फिर गोली से मार डाले
हमने बतमीजियो को सहना सिख लिया है

Enjoy love Shayari hindi

तू खुस रहे दुनिया उसकी बसाकर ही ।
की तू खुस रहे दुनिया उसकी बसाकर ही ओ भी खुस होगा तुझे अपनाकर ही पर दिल उसके साथ मत करना ।
छोड़ना मत मेरी तरह अजमाकर ही ।

शायरी हिंदी Poem in hindi